Monday, 5 November 2018

प्रेमी, प्रेमी नहीं बन पाता, जब सजन बन जाता है।



नूपुर श्रीवास्तव

No comments:

Post a comment