Thursday, 1 October 2020

बाजों के इस गांव मे, रख चिड़िया पिस्तौल।




 बाजों के इस गांव मे

रख चिड़िया पिस्तौल।
पर छूते ही दाग दे
भल अनभल मत तौल।
होगे तीर कमान दृग
तू अब चक्कू राख।
नजर बुरी पर झपट पड़
तुरत निकालै आँख।।
लंपट से बच, बैड- गुड
की टच को पहचान।
अपना दामन नेक तो
ले बुजदिल की जान।।
मर्मस्थल पर लात जड़
हचक नाक पर मुट्ठ।
हिम्मत रख ,तू कालिका
सा लंपट पर जुट्ट।।

सीतापुर 261204
30 सितम्बर 2020

No comments:

Post a comment